June 19, 2024
Jharkhand News24
जिला

हजारीबाग के प्रसिद्ध व्यवसाई की धर्मपत्नी का आकस्मिक निधन

Advertisement

हजारीबाग के प्रसिद्ध व्यवसाई सह आरएसएस के स्वयंसेवक सह समाजसेवी स्व.रामविलास खंडेलवाल की धर्मपत्नी सावित्री देवी का 98 वर्ष की आयु में हुआ आकस्मिक निधन

सदर विधायक ने जताया गहरा शोक, ईश्वर से इनके पुनीत आत्मा की शांति की कामना की

Advertisement

हजारीबाग- संवाददाता

हजारीबाग के सुप्रसिद्ध कपड़ा व्यवसाई आरएसएस के स्वयंसेवक सह समाजसेवी स्व.रामविलास खंडेलवाल की धर्मपत्नी सावित्री देवी का बुधवार को उनके पुत्र राजेंद्र प्रसाद खंडेलवाल के मुनका बगीचा स्थित आवास में 98 साल की उम्र में आकस्मिक निधन हो गया। सावित्री देवी के पांच पुत्र और तीन पुत्री हैं। इनके एक पुत्र स्व.अशोक खंडेलवाल का निधन किडनी खराब होने से करीब ढाई वर्ष पूर्व इलाज के दौरान हो गया था। इनका शहर में शारदा मेडिकल के नाम से रिटेल दवाई का कारोबार है। वहीं इनके अन्य पुत्र में श्याम सुंदर खंडेलवाल भी नवाबगंज में पायल डिट्रीब्यूटर के नाम से रिटेल दवाई दुकान चलाते हैं। इनके अन्य पुत्र में गोपाल प्रसाद खंडेलवाल मारुति फैशन, मदन गोपाल खंडेलवाल गोपाल भंडार और राजेंद्र प्रसाद खंडेलवाल खंडेलवाल हैंडलूम नामक कपड़े का दुकान चलाते हैं। इनके पति का निधन वर्ष 2006 में ही हो गया था तब से ये अपने पुत्र राजेंद्र प्रसाद खंडेलवाल के यहां ही रह रही थी। राजेंद्र प्रसाद खंडेलवाल सहित उनका पूरा परिवार विशेषकर उनके पुत्र लखन खंडेलवाल, राम खंडेलवाल और भरत खंडेलवाल इनकी सेवा में समर्पित रहते थे। पिछले कुछ समय से बेड में ही रहने के कारण इनकी विशेष सेवा भी परिजनों ने की थी। मंगलवार की रात्रि में अचानक उनका तबियत बिगड़ा और बुधवार को सुबह करीब 11:00 बजे अचानक वे पूरे परिवार के सामने ही परलोक सिधार गई। निधन से पूर्व इन्होंने अपने पुत्र राजेंद्र प्रसाद खंडेलवाल और उनकी धर्मपत्नी रज्जो देवी को उनके
37 वें शादी सालगिरह पर ढेरों आशीर्वाद भी दिया। इनके शव का अंत्येष्टि गुरुवार को खिरगांव स्थित मुक्तिधाम में किया जाएगा ।

इनके निधन पर खंडेलवाल समाज के साथ ही समाज के अन्य वर्गों के लोगों ने बड़ी संख्या में शोक संवेदना जताई। विशेषकर हजारीबाग सदर विधायक मनीष जायसवाल ने इनके निधन पर गहरा दुःख प्रकट किया है और ईश्वर से मृतिका के पुनीत आत्मा के शांति एवं इनके शोकाकुल परिजनों को दुःख सहने की अदम्य साहस प्रदान करने की कामना की ।

Related posts

होम्योपैथिक जगत के चरक थे डॉ. बी. भट्टाचार्य : होम्योपैथ रहमतुल्लाह रहमत

hansraj

भारतीय संविधान सर्वोपरी : मुखिया संदीप कुमार सुमन

jharkhandnews24

यज्ञ एवं भक्ति जागरण कार्यक्रमों से क्षेत्र का वातावरण शुद्ध होता है : बिनोद विश्वकर्मा

hansraj

भारत जकात मांझी परगना महल समाज की बैठक. 30 जून को हुल दिवस मनाने का निर्णय

hansraj

विर सावकर मनाया गया जन्मदिवस

hansraj

बोकारो स्टील सिटी में चाणक्य आईएएस एकेडमी की ओर से किया गया सेमिनार का आयोजन

hansraj

Leave a Comment