February 25, 2024
Jharkhand News24
चुनावजिला

पंचायत चुनाव में जीत नहीं पाने वाले प्रत्याशियों के लिए कुछ सुझाव

Advertisement

पंचायत चुनाव में जीत नहीं पाने वाले प्रत्याशियों के लिए कुछ सुझाव

रिपोर्ट शुभम कुमार
गावां

Advertisement

पंचायत चुनाव में एक पद के लिए कई उम्मीदवार अपना भाग्य को आजमाने के लिए जनता के अदालत में जाते है। सब जानते हैं कि एक पद के लिए कोई एक ही उम्मीदवार जीतेंगे। इसके बाद भी दर्जनों लोग चुनाव मैदान में आते हैं। इसमे किसी एक की जीत होती है। जो जीत जाते हैं। वही निर्वाचित प्रतिनिधि कहलाते हैं। लेकिन अन्य उम्मीदवार जिन्हें विश्वास कर जनता ने अपना मत दिया। उसके लिए हारा हुआ उम्मीदवार ही उनका के लिए मुखिया है, पंचायत समिति सदस्य है, वार्ड सदस्य है और जीप सदस्य है। उनसे उन्हें ज्यादा अपेक्षा रहेगी। भले ही उनका प्रत्याशी हार गया हो। लेकिन अक्सर देखा जाता है कि हारने वाले प्रत्याशी भूमिगत हो जाते है, उनसे कट जाते हैं जिन्होंने उन्हें वोट किया। ऐसी परिस्थिति में तब उन्हें लगने लगता है कि उन्होंने गलत उम्मीदवार को वोट किया। लेकिन यदि आप हार के बाद भी अपने जनता के बीच रहते है, उनके दुख सुख के भागीदार बनते हैं। तो उस मतदाता को कभी यह अनुभव नही होगा कि उनका प्रत्याशी हारा है। वह गलत उम्मीदवार को वोट दिया है। उनके लिए हमेशा जीता हुआ प्रत्याशी ही समझा जाएगा। इसलिए *झारखंड न्यूज़24* उन हारे हुए प्रत्यशियों को सलाह देता है कि आप चुनाव भले ही हार गए हो, लेकिन जनता ने जो आपको प्रेम प्यार दिया है उसे भूले नहीं। उनके लिए आप ही मुखिया हो, उनके लिए आप ही पंचायत समिति सदस्य हो, उनके लिए आप ही वार्ड सदस्य एवं जिला परिषद सदस्य हो, क्योंकि आपको उसी पद के लिए वोट दिया है। उनके वोट का सम्मान करते हुए मैदान में डटे रहे, एक न एक दिन सफलता जरूर मिलेगी।
धन्यवाद

विनीत:-
धनंजय सर
झारखंड न्यूज़24
(बरही अनुमंडल)

Related posts

जिप उपाध्यक्ष ने किया दुर्गा पूजा पंडाल का उद्घाटन, मां से जिला की खुशहाली की कामना

hansraj

मंडरो प्रखंड बीडीओ और सीओ ने अपने हाथों से दिया दिव्यांग छात्र को ट्राइसाइकिल

hansraj

ट्रक ने बाइक सवार को मारी टक्कर, घटना स्थल पर ही एक कि मौत

hansraj

गांव में छापेमारी करने गईं टीम पर हमला

hansraj

आदिवासी विकास उच्च विद्यालय सिलाडीह में वृक्षारोपण अभियान चलाया गया

hansraj

बीबीएमकेयू के कुलपति डॉ. शुकदेव भोई हटाए गए, भ्रष्टाचार के आरोप में राजभवन ने की थी जांच, नोटिस मिलने के बाद वीसी ने दिया इस्तीफा

jharkhandnews24

Leave a Comment