June 15, 2024
Jharkhand News24
जिला

रांची हिंसा मामले में गिरफ्तार नबाव चिश्ती ने जिला प्रशासन व इटेलिजेंस ब्यूरो को किया था सतर्क

Advertisement

रांची हिंसा मामले में गिरफ्तार नबाव चिश्ती ने जिला प्रशासन व इटेलिजेंस ब्यूरो को किया था सतर्क

संवाददाता- अंकित नाग

Advertisement

राँची- झारखंड की राजधानी रांची में बीते शुक्रवार को फैली हिंसा का मास्टमाइंड नवाब चिश्ती को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है । नवाब चिश्ती पर पहले भी कई जगह हिंसा फैलाने का आरोप है। बीते 10 जून को रांची मेन रोड में भड़के हिंसा से करीब डेढ़ घंटा पहले सोशल मिडिया पर पोस्ट किया गया था । जबकि आरोपी नबाब चिश्ती को पहले से पता था की मेन रोड में हिंसा होने वाली है । जबकि फेसबुक पर पोस्ट शेयर करते हुए उसने लिखा था की इंटेलिजेंस ब्यूरो एवं जिला प्रशासन सतर्क रहें । वही पुलिस की जांच में पता चला है कि हिंसा वाले दिन ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ व्हाट्सएप ग्रुप से ही सबसे अधिक मैसेज किया गया था । युवाओं को झांसा देकर उकसाया गया। ग्रुप में आरोपी नवाब ने लोगों से प्रदर्शन में शामिल होने की अपील की थी ।
जबकि पुलिस को यह भी पता चला है कि नवाब ही इस ग्रुप का एडमिन है । वहीं पुलिस की जांच के दौरान इस ग्रुप के सारे मैसेज चैट पढ़े गए जिसमें यह पाया गया कि रांची हिंसा को उग्र रूप देने के लिए इस ग्रुप का इस्तेमाल किया गया था। रांची हिंसा को भड़काने में गैंग्स ऑफ वासेपुर व्हाट्सएप ग्रुप की महत्वपूर्ण भूमिका रही है । आरोपी नबाब चिस्ती के खिलाफ डोरंडा थाना प्रभारी के बयान पर प्राथमिकी दर्ज किया है। छानबीन में पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज में देखा कि उपद्रवी तत्व जब डोरंडा क्षेत्र से मेन रोड की ओर जा रहे थे तब राजेंद्र चौक पर नवाब चिस्ती को भी देखा गया था ।

सामाजिक काम के आड़ में हिंसा भड़काता था

10 जून को रांची में हिंसा का मास्टमाइंड नबाब चिस्ती डोरंडा थाना क्षेत्र के युनूस चौक का रहने वाला है । आरोपी हिंसा भड़काने के आरोप में पहले भी जेल जा चुका है । आरोपी को डोरंडा थाना और हिंदपीढ़ी थाना पुलिस ने दंगा भड़काने के आरोप में जेल भेजा था । आरोपी ने पुलिस के समक्ष स्वीकार किया है कि सोशल मीडिया पर वह धार्मिक उन्माद पैदा करने के लिए उत्तेजक मैसेज भेजता है । नबाब चिस्ती सामाजिक काम के आड़ में हिसा भड़काने में काफी सक्रिय रहा है। वर्ष 2019 में हिंसा भड़काने के आरोप में जेल की हवा खानी पड़ी थी । वही सामाजिक कार्यकर्ता बने नबाब चिस्ती रांची हिंसा में सोशल मिडिया के माध्यम से लोगों को उकसाया था । जबकि
सामाजिक कार्य के आड़ में विधायक मंत्री से जुड़ा रहता था । सोशल मिडिया पर कई तस्वीरों से ऐसा प्रतीत होता है झारखंड सरकार के मंत्री हफीजुल हसन, मंत्री बन्ना गुप्ता, झामुमो से राज्यसभा सदस्य महुआ माजी, विधायक इरफान अंसारी के अलावा राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी के साथ नवाब चिश्ती की तस्वीरें सोशल मिडिया पर देखी गई है ।

Related posts

अखिल भारतीय मारवाड़ी युवा मंच हजारीबाग इकाई के द्वारा की गई बैठक

jharkhandnews24

इस मौसम में असामाजिक तत्वों द्वारा जंगल/झाड़ी में आग लगा दिया जाता

hansraj

तेजी से फैल रही है आंखो की इंफेक्शन, होमियोपैथिक दवा कारगर : डॉ आनन्द शाही

jharkhandnews24

पुस्तक वृद्धों की मित्र मंडली गप-सप का हुआ विमोचन

hansraj

जन सेवा मंच के प्रयास से 100 परिवारों को दिलवाया उज्जवला योजना का लाभ

jharkhandnews24

उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक के साथ अधिकारियों की टीम ने मेला क्षेत्र का किया पैदल निरीक्षण.

hansraj

Leave a Comment